सोमवार, 14 नवंबर 2011

टिम टिम करते तारे


चौदह नवम्बर पर बच्चों के लिये ...

टिम टिम करते तारे
नभ से उतरे सारे

नन्हें बच्चे प्यारे
आँखों के दुलारे
झट से ये मुस्का देते हैं
रँग सारे बिखरा देते हैं

चन्दा मामा प्यारे
थक कर कभी न हारे
दूर खड़े मुस्काते हैं
हमको वही चलाते हैं

नन्हीं नन्हीं परियाँ
सँग जादू की छड़ियाँ
हिला हिला बिखरा देतीं हैं
सुख की सारी लड़ियाँ

टिम टिम करते तारे
नभ से उतरे सारे

7 टिप्‍पणियां:

डा.राजेंद्र तेला"निरंतर" Dr.Rajendra Tela,Nirantar" ने कहा…

sapnon kee duniyaa se
zameen ko
roshan karne ke liye utre
ye tim tim karte taare

baal divas par acchhe khyaal

Sunil Kumar ने कहा…

चन्दा मामा प्यारे
थक कर कभी न हारे
सार्थक सन्देश देती हुई रचना......

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

बढ़िया रचना

Gyan Darpan
.

kshama ने कहा…

नन्हीं नन्हीं परियाँ
सँग जादू की छड़ियाँ
हिला हिला बिखरा देतीं हैं
सुख की सारी लड़ियाँ
Kitni pyaree panktiyan hain ye!

इस्मत ज़ैदी ने कहा…

नन्हें बच्चे प्यारे
आँखों के दुलारे
झट से ये मुस्का देते हैं
रँग सारे बिखरा देते हैं

बहुत प्यारी रचना :)

Udan Tashtari ने कहा…

प्यारी रचना...

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

बहुत सुंदर और प्यारी बाल रचना ! आभार!!