बुधवार, 31 दिसंबर 2008

नया साल कुछ ऐसे आये


Happy New Year-2009

नया साल कुछ ऐसे आये , उग आये इक फल का बूटा
हर चौबारे , हर घर में , रह जाये कोई आँगन छूटा

फूल हों विशवास सरीखे , फल हों आशीर्वाद
वाह-वाह निकले मुहँ से और दिन की हो शुरुवाद

डालें जब उमंगें झूला , शाखों का लेकर साथ
बारात लिये सतरंगी किरणें , जाएँ लेकर हाथों में हाथ

पड़ते ही नजर बूटे पर , कुछ ऐसी हो बरसात
तन मन रँग कर , ओढ़ ओढ़नी निकला हो जज्बात

अंकुर फूटें रिश्तों के बीज से , ऐसा हो विशवास
फूलें फलें मेहनत के दम पर , हो रग रग में उल्लास



5 टिप्‍पणियां:

निर्मला कपिला ने कहा…

aapkaa nayaa saal aapke sapno jesaa ho naye saal ki shubh kaamnaaye

निर्मला कपिला ने कहा…

aapkaa nayaa saal aapke sapno jesaa ho naye saal ki shubh kaamnaaye

राज भाटिय़ा ने कहा…

नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !!!नया साल आप सब के जीवन मै खुब खुशियां ले कर आये,ओर पुरे विश्चव मै शातिं ले कर आये.
धन्यवाद

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

आमीन

Arpita Papneja Shoker ने कहा…

feel proud to see your blog.
its really nice...you write awesome :) My good wishes to you and family on new year.