मंगलवार, 8 दिसंबर 2020

बड़ी बेटी का जन्मदिन

 


सुबहें गुलाबी हों ,शामें हों आसमानी 
मेरी बिटिया ,ऐसी हो तेरी ज़िन्दगानी 

तेरी आँखों से मैंने देखी दुनिया
तेरे हौसले हैं उड़ान मेरी 
तेरे पँख हैं मेरी ताकत 

घर की बड़ी बेटी होती है घर का स्तम्भ (पिलर )
जिसे हिलना मना है 
तेरी मुस्कानों से मेरा गुलशन खिला है 

तेरी राहें हों हसीन 
तुम चमको रहती दुनिया के सितारों तलक 
माँ की धड़कन-धड़कन दुआ है 

सुबहें गुलाबी हों ,शामें हों आसमानी 
मेरी बिटिया ,ऐसी हो तेरी ज़िन्दगानी 

2 टिप्‍पणियां:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

शुभकामनाएं बेटी के जन्मदिवस पर।

शारदा अरोरा ने कहा…

Bahut bahut dhanyvad Joshi ji